जो देखकर भी नहीं देखते - Quotes From Helen Keller 

कभी-कभी में अपने मित्रो की परीक्षा लेती हूँ, यह  परखने के लिए कि क्या वह क्या देखते है। हाल ही में मेरी एक प्रिय मित्र जंगल की सैर करने के बाद वापस लोटी। मैंने उससे पूछा आपने क्या देखा ? उनका जवाब था कुछ खाश तो नहीं। 

मुझे यह सुनकर बहुत अचरज तो नहीं हुआ, क्योकि में अब इस तरह के उत्तर सुन-सुनके उनकी आदि हो चुकी थी। मेरा विश्वाश है कि जिन लोगो के पास आँखे होती है वे बहुत कम देखते है। 

Must Read - आज का सुविचार - जो है उसी में संतोष करो 

क्या यह सम्भव है कि भला कोई जंगल में घंटाभर घूमे और फिर भी कोई विशेष चीज न देखे ? मुझे जिसे कुछ भी दिखाई नहीं देता - सेकड़ो रोचक चीजे मिलती है जिन्हे में छूकर पहचानती हूँ। 

में भोज पत्र के पेड़ की चिकनी छाल और चीड़ की खुरदरी छाल को स्पर्श से पहचान लेती हूँ। वसंत के दौरान में टहलियो में नयी कलियाँ ढूंढती हूँ। मुझे फूलो की पंखुड़ियों की मखमली सतह छूने और उनकी घुमावदार बनावट महसूस करने में अपार आनंद आता है इस दौरान मुझे प्रकृति के जादू का कुछ अहसास होता है। 

Read Now - शिक्षाप्रद सुविचार हिंदी में

कभी जब में खुशनसीब होती हूँ तो टहनी पर हाथ रखते ही किसी चिड़िया के मधुर स्वर कानो में गूंजने लगते है। अपनी अंगुलियों ने बीच झरने के बहते पानी की आवाज सुनकर में आनंदित हो उठती हूँ। मुझे चीड़ की फैली पतियों तथा घास के मैदान किसी भी महंगे कालीन से अधिक प्रिय है। बदलते हुए मौसम का नया समां मेरे जीवन में नया रंग और खुशिया भर देता है। 

कभी-कभी मेरा दिल इन सब चीजों को देखने के लिए मचल उठता है। अगर मुझे इन चीजों को सिर्फ छूने भर से इतनी ख़ुशी मिलती है तो उनकी सुंदरता को देखकर तो मेरा मन मुग्ध हो जायेगा।  परन्तु जिन लोगो की आँखे है वे सचमुच बहुत कम देखते है। इस दुनिया के अलग अलग सुंदर रंग उनकी संवेदना को नहीं छूते। मनुष्य अपनी क्षमताओं की  नहीं करता। वह हमेशा उसी चीज की आश लगाए रहता है जो उसके पास नहीं है। 

यह कितने दुःख की बात है कि दृष्टि के आशीर्वाद को लोग एक साधारण सी चीज समझते है जबकी इस नियामत से जिंदगी को खुशियों के इंदरधनुषी रंगो से हरा भरा किया जा सकता है। 

Other Releted - 

बेस्ट लाइफ कोट्स हिंदी में

शानदार 201 सुविचार