साथी हाथ बढ़ाना - Motivational Poem In Hindi

तो कैसे है आप ? उम्मीद है आप बढ़िया होंगे। आज की इस पोस्ट में हम आपके साथ मोटिवेशनल पोएम इन हिंदी में साझा कर रहे है। उपयुक्त कविता का शीर्षक ''साथी हाथ बढ़ाना'' है। 

साथी हाथ बढ़ाना - Motivational Poem In Hindi 

Motivational Poem In Hindi


साथी हाथ बढ़ाना 

एक अकेला थक जायेगा

मिलकर बोझ उठाना 

साथी हाथ बढ़ाना 

हम मेहनत वालो ने जब भी 

मिलकर कदम बढ़ाया 

सागर ने रास्ता छोड़ा

परबत ने सीस झुकाया 

फौलादी है सीने अपने 

फौलादी है बांहे अपने 

हम चाहे तो चट्टानों में 

पैदा कर दे राहे 

साथी हाथ बढ़ाना 

मेहनत अपने लेख की रेखा 

मेहनत से क्या डरना 

कल गेरो की खातिर की 

आज अपनी खातिर करना 

अपना दुःख भी है एक साथी 

अपना सुख भी है एक साथी 

अपनी मंजिल सच्च की मंजिल 

अपना रास्ता नेक का रास्ता 

साथी हाथ बढ़ाना 

एक से एक मिले तो

कतरा बन जाता है दरिया 

एक से एक मिले तो जर्रा 

बन जाता है सेहरा 

एक से एक मिले तो राई 

बन सकती है परबत 

एक से एक मिले तो इंसा

करले बस में अपनी किस्मत 

साथी हाथ बढ़ाना

साथी हाथ बढ़ाना 

यदि आपको साथी हाथ बढ़ाना - Motivational Poem In Hindi पसंद आयी हो तो कृपया इसे शेयर जरूर करे तथा कमेंट बॉक्स में अपनी Feedback जरूर दे। 

Related Posts 








टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां