राजस्थान के भौतिक प्रदेश - राजस्थान भूगोल ( Rajasthan Ka Bhugol - Bhotik Pardesh )

राजस्थान के भौतिक प्रदेश - राजस्थान भूगोल ( Rajasthan Ka Bhugol - Bhotik Pardesh )

राजस्थान भारत का सबसे बड़ा भौतिक प्रदेश माना जा सकता है क्योकिं राजस्थान का क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत में पहला स्थान है तथा जनसंख्या की दृष्टि से आठवां स्थान रखता है। राजस्थान भूगोल के पहले पेज पर आपका स्वागत है अब यहां से आप राजस्थान भूगोल की पूरी तैयारी कर सकते है।

राजस्थान के भौतिक प्रदेश - राजस्थान के भौतिक प्रदेशो को चार भागों में विभाजित किया गया है -

1. पश्चिमी मरुस्थल
2. अरावली पर्वत माला
3. पूर्वी पठार
4. दक्षिण पूर्वी पठार

राजस्थान के भौतिक प्रदेशो का वर्गीकरण


1. पश्चिमी मरुस्थल
इस भौतिक प्रदेश का विवरण -

  • क्षेत्रफल - 61.11 प्रतिशत
  • जनसंख्या - 40 प्रतिशत 
  • संभाग - जोधपुर 
  • सम्मिलित जिले - जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, जोधपुर, गंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनूं, पाली, सीकर, नागौर,जालोर,
  • उपनाम - थार का मरुस्थल, ग्रेट इंडियन डेजर्ट, चोलिस्टन 
  • क्षेत्रफल - उत्तर पश्चिम से दक्षिण पूर्व 640 km
  • पूर्व से पश्चिम 300 km
  • जलवायु - शुष्क 
  • वर्षा - 50 सीएम से कम
  • वनस्पति - शुष्क मरुस्थलीय वनस्पति जैसे - बैर, नगफनी, झाड़ियां, खेजड़ी 
  • नदी - गग्घर और लुन्नी
  • प्रमुख फसलें ( खरीफ ) - मूंग, मोठ, ज्वार,बाजरा
  • ढलाव - पूर्व से पश्चिम व उत्तर से दक्षिण 
  • वन्य जीव अभयारण्य - राष्ट्रीय मरू उद्यान जैसलमेर 

2. अरावली पर्वतमाला - इस भौतिक प्रदेश का विवरण -


  • क्षेत्रफल - 9%
  • जनसंख्या - 10 प्रतिशत
  • अवशेष - गोडवाना लेंड 
  • अरावली पर्वत माला का निर्माण प्रिकेंब्रियान युग के धारवाड़ काल में माना जाता है।
  • यह विश्व की प्राचीनतम पर्वतमाला है जो वलित प्रकार की है।
  • इसका स्थानीय नाम आडा भाटा है।
  • इसका विस्तार पालनपुर गुजरात से रायसिन पहाड़ी दिल्ली तक 692 किलोमीटर में फैला हुआ है।
  • जबकि राजस्थान में अरावली पर्वतमाला का विस्तार खेडब्रहमा सिरोही से खेतड़ी झुंझुनूं तक 550 किलोमीटर लंबा है अर्थात अरावली पर्वतमाला की लंबाई का लगभग 80 प्रतिशत भाग राजस्थान में स्थित है।
  • अरावली पर्वतमाला की औसत ऊंचाई - 930 मीटर
  • दिशा - दक्षिण पश्चिम से उत्तर पूर्व की और
  • अरावली का सर्वाधिक विस्तार उदयपुर में जबकि न्यूनतम अजमेर में है।
  • यह राजस्थान की जल विभाजक रेखा का कार्य करती है।
  • अरावली पर्वतमाला का विस्तार दक्षिण पश्चिम से उत्तर पूर्व की ओर होने की वजह से राजस्थान में कम वर्षा होती है।
  • अरावली क्षेत्र की जलवायु उपाद्र है।
  • प्रमुख वनस्पति - धोकड़ा
  • औसत वर्षा - 50° - 80° सीएम

3. दक्षिण - पूर्वी मैदान
इस भौतिक प्रदेश का वर्णन और विवरण -
  • क्षेत्र - 23 प्रतिशत 
  • जनसंख्या - 39 प्रतिशत qq
  • सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व इसी का है।
  • दक्षिणी पूर्वी मैदान टेथीस सागर के अवक्षेप है।
  • जलवायु - आर्द्र
  • मिट्ठी - जलोढ मृदा
  • सम्मिलित जिले - डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, चित्तौड़, बूंदी, कोटा, सवाई माधोपुर, करोली,धौलपुर, भरतपुर, जयपुर, दौसा आदि।
  • सिंचाई के साधन - कुएं और नलकूप

4. दक्षिणी पूर्वी पठार - राजस्थान के भौतिक प्रदेश का विवरण -
  • क्षेत्र - 6.89 प्रतिशत
  • जनसंख्या - 11 प्रतिशत
  • जलवायु - अतिआद्र
  • वर्षा - 80 से 120 सीएम
  • मृदा - लावा निर्मित काली मृदा ( कपास की फसल के लिए प्रसिद्ध )
  • दक्षिण पूर्वी पठार विंध्याचल पर्वत और अरावली पर्वतमाला के बीच की संक्रमण पेटी है।
  • विस्तार - डूंगरपुर, बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, बूंदी, कोटा, बारा, झालावाड़, सवाई माधोपुर,





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां