Hindi Story For Kids - धनवान मुर्ख

प्रिय पाठको BestBook की किड्स स्टोरी में आपका स्वागत है। आज आपके मनोरंजन के लिए हमने एक हिंदी स्टोरी ( Hindi Story For Kids - धनवान मुर्ख ) प्रकाशित की है। 


Hindi Story For Kids - धनवान मुर्ख


Hindi Story For Kids - धनवान मुर्ख 

किसी नगर के पास के मठ था। उस मठ में बहुत से मुर्ख रहते थे। उनमे एक धनवान मुर्ख भी था। किसी ने उसे बताया कि तालाब बनवाने से बहुत पुण्य मिलता है। इसलिए उसने उस मठ के पास के एक तालाब बनवाया और उसके चारो किनारो को बंधवा दिया। 

एक दिन उसने जाकर देखा कि उस तालाब के किनारे किसी ने उखाड़ दिए। 
दूसरे दिन गया तो भी उसने यही देखा। तीसरे दिन गया तो भी किनारे उखड़े हुए थे। वह सोचने लगा यह कौन है जो रोज आकर तालाब के किनारे उखाड़ जाता है। 

एक दिन वह सवेरे ही वहां पहुंचा। उसे बड़ा अचरज हुआ कि आकाश से एक सुन्दर बैल उतर कर वहां आया और उसने अपने सींगो से तालाब के किनारे उखाड़ डाले। 

तब उस धनवान मुर्ख ने सोचा कि यह बैल हो या न हो पर आता तो स्वर्ग से है तब क्यों ना में उसकी पूंछ पकड़कर उसके साथ स्वर्ग चला जाऊ। यह सोचकर उसने बैल की पूंछ पकड़ ली वह बैल उड़ गया धनवान मुर्ख भी बैल की पूंछ पकड़कर बैल के निवास स्थान कैलाश पर्वत पहुँच गया। 

यह पढ़े :-


वहां खाने के लिए लड्डू पेड़े जैसे बड़े स्वादिष्ट पदार्थ थे। वह मुर्ख धनवान रोज वहां रहकर उन्हें खाने लगा। वह बैल सदा की तरह रोज वहां आता जाता था। मुर्ख ने सोचा क्यों न एक बार फिर बैल की पूंछ पकड़कर धरती पर घूम आऊं। 

उसने ऐसा ही किया और वह धरती पर आ पहुंचा। वहां वह अपने सभी मित्रो से मिला। उसके मुर्ख साथियो ने उससे पूछा तुम कहाँ चले गए थे यार ?

धनवान मुर्ख ने उन्हें सारी कहानी सुनाई। यह कहानी सुनकर उसके सभी साथियो ने कहा हमे भी वहां ले चलो हमे भी लड्डू पेड़े खाने है।

यह पढ़े :- 
उस धनवान मुर्ख ने अपने साथियो को वहां जाने का मार्ग बता दिया और कहा सबसे पहले में उसकी पूंछ पकड़कर लटक जाऊंगा। फिर बारी बारी से एक दूसरे के पैर पकड़कर लटक जाना है। 

वे सब बहुत प्रसन्न हुए। अगले दिन जब बैल आया तो धनवान मुर्ख ने अपने दोनों हाथो से पूंछ पकड़ ली। दूर मुर्ख ने उसके पैर पकड़ लिए। तीसरे ने दूसरे के पकडे और चौथे के इस प्रकार पकड़ते हुए उनकी श्रखंला जंजीर जैसी बन गयी। 

बैल उन्हें आकाश में ले उड़ा। ऊपर चलते चलते अचानक उस धनवान मुर्ख से किसी एक अन्य मुर्ख ने पूछा तुमने जो लड्डू खाये थे वो कितने बड़े थे। धनवान मुर्ख ने लड्डुओं का नाप बताने के लिए जैसे ही बैल की पूंछ से हाथ छोड़े वैसे ही वो सारे मुर्ख धरती पर आ गिरे और मर गये। 

यह पढ़े :- 

आपको यह कहानी Hindi Story For Kids अच्छी लगी हो लाइक और शेयर जरूर करे। 


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां